दुष्कर्मियों को मिले मृत्युदंड की सजा

Spread the love


रुद्रपुर विकास भवन सभागार में बालिकाओं को फूल के गमले भेंट करते अधिकारी।
– फोटो : RUDRAPUR

ख़बर सुनें

्ररुद्रपुर। महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से विकास भवन सभागार में बुधवार को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें मुख्य अतिथि विधायक राजकुमार ठुकराल ने बीते दिन पहले नाबालिग बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि ऐसे दरिंदों को मृत्युदंड की सजा मिलनी चाहिए।
कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाली 150 छात्राओं और महिलाओं को फूलों के गमले बांटे गए। विशिष्ट अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अविनाश श्रीवास्तव ने छात्राओं और महिलाओं को कानूनी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शहर में आवारागर्दी कर रहे लोगों को पुलिस को सबक सिखाना चाहिए।
स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुरभि ने अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर प्रसव पूर्व भ्रूण जांच के लिए जाने वाली महिलाओं और परिजनों की खोज कर उन्हें दंड देने की बात कही। महिला कल्याण अधिकारी डॉ. श्वेता दीक्षित ने बीते दिन हुई घटना के बारे में बताया कि जब वह 11 वर्षीय बालिका से मिलने पहुंचीं तो वह बस यही कह रही थी कि दरिंदे को मत छोड़ना।
कार्यक्रम में गायत्री परिवार और विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के लोग मौजूद थे। वहां डीपीओ उदय प्रताप सिंह, एएनएम दीपा जोशी, रजनीश बत्रा, कमला अधिकारी, ज्योति, शायरो बानो, आंचल गुप्ता, अनीता पासवान आदि थे।

्ररुद्रपुर। महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से विकास भवन सभागार में बुधवार को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें मुख्य अतिथि विधायक राजकुमार ठुकराल ने बीते दिन पहले नाबालिग बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि ऐसे दरिंदों को मृत्युदंड की सजा मिलनी चाहिए।

कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाली 150 छात्राओं और महिलाओं को फूलों के गमले बांटे गए। विशिष्ट अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अविनाश श्रीवास्तव ने छात्राओं और महिलाओं को कानूनी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि शहर में आवारागर्दी कर रहे लोगों को पुलिस को सबक सिखाना चाहिए।

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुरभि ने अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर प्रसव पूर्व भ्रूण जांच के लिए जाने वाली महिलाओं और परिजनों की खोज कर उन्हें दंड देने की बात कही। महिला कल्याण अधिकारी डॉ. श्वेता दीक्षित ने बीते दिन हुई घटना के बारे में बताया कि जब वह 11 वर्षीय बालिका से मिलने पहुंचीं तो वह बस यही कह रही थी कि दरिंदे को मत छोड़ना।

कार्यक्रम में गायत्री परिवार और विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के लोग मौजूद थे। वहां डीपीओ उदय प्रताप सिंह, एएनएम दीपा जोशी, रजनीश बत्रा, कमला अधिकारी, ज्योति, शायरो बानो, आंचल गुप्ता, अनीता पासवान आदि थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *