एलन मस्क की कंपनी SpaceX का स्पेस मिशन हुआ पूरा, आज फ्लोरिडा के पास समुद्र में की सफल लैंडिंग

Spread the love


SpaceX Mission: टेक बिलिनियर एलन मस्क की कंपनी SpaceX का पहला स्पेस मिशन ‘इंस्पिरेशन 4’ (Inspiration4) आज सफलतापूर्वक पूरा हुआ. इस मिशन में अंतरिक्ष में उड़ान भरने के लिए चार आम नागरिकों को शामिल किया गया था. इन चार नागरिकों के साथ SpaceX के ड्रैगन स्पेसक्राफ्ट ने तीन दिन तक पृथ्वी के चक्कर लगाए. जिसके बाद आज सुबह फ्लोरिडा के तट के पास समुद्र में इसने सफल लैंडिंग की. आम नागरिकों के साथ ऑर्बिट में जाने वाली ये दुनिया की पहली स्पेसफ़्लाइट थी. 

15 सितंबर को फ्लोरिडा के कैनेडी स्पेस सेंटर में नासा के पैड 39 ए से इस मिशन को लॉन्च किया गया था. इस मिशन की अगुवाई कर रहे 37 साल के jared Isaacman ने की. saacman इंटीग्रेटेड पेमेंट प्रोसेसिंग कंपनी Shift4 Payments के सीईओ होने के साथ साथ ही एक एक ट्रेंड पायलट भी हैं. Isaacman ने St Jude Children’s Research Hospital के लिए चैरिटी जुटाने के उद्देश्य से इस स्पेस फ़्लाइट को खरीदा था. 

Isaacman अलावा ये तीन आम नागरिक थें मिशन में शामिल 

इस मिशन में Isaacman के साथ, हेली आर्सीनॉक्स, सियान प्रॉक्टर और क्रिस सेम्ब्रोस्की भी शामिल थे. 29 साल की हेली आर्सीनॉक्स एक बोन कैन्सर सरवाईवर हैं और उन्हें इस मिशन में चैरिटी अभियान को रिप्रेज़ेंट करने के लिए चुना गया था. जबकि प्रॉक्टर और क्रिस सेम्ब्रोस्की एक ग्लोबल कांटेस्ट को जीतकर इस मिशन का हिस्सा बनें थे. स्पेसएक्स के क्रू ड्रैगन कैप्सूल को समुद्र से क्रेन के जरिये किनारे पर ले जाया गया. 

आर्सीनॉक्स सबसे पहले इस से बाहर निकलीं. इसके बाद मिशन के पायलट 51 साल के सियान प्रॉक्टर बाहर आए. जिसके बाद 42 साल के क्रिस सेम्ब्रोस्की इस कैप्सूल से बाहर निकले. सबसे अंत में मिशन की अगुवाई कर रहे 37 साल के jared Isaacman बाहर निकले. ये सभी बाहर निकलने के बाद जोश और उत्साह से भरे हुए दिख रहे थें. 

गुरुवार को हुआ था मिशन लॉन्च 

भारतीय समय के मुताबिक गुरुवार सुबह पांच बजकर 33 मिनट पर अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित कैनेडी स्पेस सेंटर से चार आम लोगों को लेकर स्पेसएक्स का क्रू ड्रैगन कैप्सूल फाल्कन-9 रॉकेट से अंतरिक्ष के लिए रवाना हुआ था. दुनिया में पहली बार सिर्फ आम नागरिकों को लेकर पृथ्वी की कक्षा में कोई अंतरिक्ष यान लॉन्च किया गया था. इस मिशन में जो चार लोग शामिल थे उनमें से कोई भी पेशेवर यात्री नहीं है. इन्हें इस के लिए सिर्फ पांच महीने की ट्रेनिंग दी गई थीं. 

यह भी पढ़ें 

India Monsoon Update: बंगाल, बिहार, उत्तराखंड समेत इन राज्यों में बारिश की संभावना, जानें आज का मौसम पूर्वानुमान



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *