UP Elections 2022: कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक खत्म, करीब 50 सीटों पर उम्मीदवार तय

Spread the love


UP Elections 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवारों का नाम तय करने के लिए पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक समाप्त हो गई है. करीब 50 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों पर मुहर लगी है. बता दें कि यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं और कांग्रेस इस चुनाव के जरिए राज्य में अपनी खोई सियासी जमीन पाने करने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी की सत्ता पर काबिज होने के लिए जोर-शोर से चुनावी अभियान में लगी हैं. उन्होंने विधानसभा चुनाव में महिलाओं को 40 प्रतिशत आरक्षण देने के साथ-साथ आज यानी शनिवार से प्रतिज्ञा यात्रा भी शुरू की है.

कांग्रेस की राष्‍ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को बाराबंकी के हरख ब्लॉक से कांग्रेस की तीन प्रतिज्ञा यात्राओं को हरी झंडी दिखाई और पार्टी की सरकार बनने पर किसानों का पूरा कर्ज माफ करने और 20 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने की प्रतिज्ञा दोहराई. कांग्रेस की तीन प्रतिज्ञा यात्राएं ‘हम वचन निभाएंगे’ नारे के साथ -बाराबंकी से बुंदेलखंड, सहारनपुर से मथुरा और वाराणसी से रायबरेली, 23 अक्टूबर से एक नवंबर तक आयोजित की गई हैं.

उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले अपनी प्रतिज्ञाओं के जरिए प्रियंका गांधी वाड्रा ने महिलाओं, किसानों, बेरोजगारों, संविदा कर्मियों और कोरोना की मार से आर्थिक रूप से तबाह हुए परिवारों के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की. प्रियंका ने बाराबंकी में अपने संबोधन में कहा, “कांग्रेस चुनाव के दौरान टिकटों में महिलाओं को 40 प्रतिशत हिस्सेदारी देगी और लड़कियों को स्मार्ट फोन और स्कूटी देगी. कांग्रेस की सरकार बनने पर किसानों की पूर्ण कर्ज माफी होगी, 2500 रुपये में गेहूं-धान (प्रति क्विंटल) की खरीद होगी और गन्ना किसान अपनी फसल के लिए 400 रुपये प्रति क्विंटल की दर से कीमत पाएंगे.

उन्होंने कहा कि बिजली बिल सबका साफ हाफ, कोरोना काल का बकाया साफ होगा यानी हर व्यक्ति की बिजली का बिल आधा और कोरोना काल का बकाया माफ होगा. उन्होंने कोरोना से प्रभावित परिवारों के लिए कहा कि दूर करेंगे कोरोना की आर्थिक मार, परिवार को देंगे 25 हजार. प्रियंका ने 20 लाख लोगों को सरकारी रोजगार देने और संविदा पर कार्य करने वालों को नियमित करने की प्रतिज्ञा ली. उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के भीतर महिलाओं के लिए अलग से घोषणा पत्र जारी किया जाएगा.

महिलाओं को आगे बढ़ने और राजनीति में आने की अपील

कांग्रेस महासचिव ने अपनी प्रतिज्ञा को विस्तार देते हुए कहा कि महिलाएं जब तक आगे नहीं बढ़ेगी और राजनीति में उनकी भागीदारी नहीं होगी तब तक समस्याओं का समाधान नहीं हो सकेगा. उन्होंने महिलाओं को आगे बढ़ने और राजनीति में आने की अपील करते हुए कहा कि कांग्रेस चाहती है कि महिलाएं आगे आएं और अपनी लड़ाई खुद लड़ें. प्रियंका ने कहा कि जो लड़कियां 12वीं पास हैं उन्हें सरकार आने पर स्मार्ट फोन और स्नातक पास करने पर इलेक्ट्रिक स्कूटी दी जाएगी. उन्होंने कहा कि यह तोहफा नहीं है वोट के लिए, यह माध्यम है जिससे आप सशक्त बन सकती हैं.

किसानों की बात करते हुए उन्होंने कहा, “किसान त्रस्त है, आपने देखा होगा कि लखीमपुर खीरी में मोदी जी के मंत्री के बेटे ने किस तरह क्रूरता से गाड़ी चढ़ाकर छह किसानों को मार डाला. यह एक ऐसा हादसा है जिससे पूरे देश को समझ में आ रहा है कि यह सरकार किसानों को कितनी अहमियत दे रही है. जिसने किसानों को कुचला उसको गिरफ्तार करने में कितनी देरी की और उसका पिता आज तक मोदी जी के मंत्रालय में हैं और उसकी बर्खास्तगी नहीं हुई. यह तो एक मिसाल है, किसान जानते हैं कि कुछ सालों से कितनी समस्याओं से जूझ रहे हैं. इसलिए हमने तय किया है कि किसानों के कर्जे माफ करेंगे.”

उन्होंने यह भी कहा, “आप जानते हैं कि कांग्रेस पार्टी ने पहले 72 हजार करोड़ रुपये के कर्ज माफ किए थे. आप जिन समस्याओं से जूझ रहे हैं, आप सब जानते हैं. खाद महंगी, बिजली के बिल भरने पड़ते हैं बड़े बड़े, कर्ज में आप डूब रहे हैं.” प्रियंका ने कहा, “जिस तरह छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार 2500 में धान खरीद रही है, उसी तरह यहां 2500 रुपये में गेहूं और धान खरीदेंगे और चार सौ रुपये गन्ने का दाम मिलेगा. जब बिजली बिल की बात कर रहे हैं तो कोरोना काल के समय जो छोटे व्यापारी हैं उन्हें बिजली बिल भरने पड़े और कमाई नहीं हुई, इसलिए हमने निर्णय लिया है कि कोरोना काल में बिजली के बिल माफ करेंगे और सबका बिजली बिल हाफ होगा.”

कांग्रेस महासचिव ने कहा, “खासतौर से कहना चाहती हूं कि पिछले दो साल में बहुत से संविदा कर्मियों से मिली और सबने अपनी समस्या बताई, सबका शोषण किया गया. उनका नियमितीकरण करने का हमने निर्णय लिया है. हमारी सरकार आएगी तो सबका नियमितीकरण करेंगे. यात्रा द्वारा हमारी प्रतिज्ञा गांव-गांव तक पहुंचेगी.”

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश की सत्ता से करीब तीन दशक से दूर रही कांग्रेस की खोई जमीन वापस पाने के लिए प्रियंका प्रयास कर रही हैं. साल 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रदेश की 403 सीटों में केवल सात सीटें जीत सकी थीं, जबकि 2019 के लोकसभा चुनाव में केवल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को ही रायबरेली में जीत मिली थी. कांग्रेस के पूर्व सांसद और छत्तीसगढ़ के प्रभारी पीएल पुनिया ने बताया कि वाराणसी से शुरू हुई यात्रा रायबरेली में समाप्त होगी और यह चंदौली, सोनभद्र, मिर्जापुर, प्रयागराज, प्रतापगढ़ व अमेठी जिलों से गुजरेगी.

वहीं, बाराबंकी से शुरू हुई यात्रा झांसी में समाप्त होगी और इस दौरान लखनऊ, उन्नाव, फतेहपुर, चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर और जालौन जिलों से गुजरेगी. इसी प्रकार सहारनपुर से शुरू हुई यात्रा मुजप्फरनगर, बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बदायूं, अलीगढ़, हाथरस, आगरा होते हुए मथुरा पहुंचेगी. इस यात्रा में बस का इस्तेमाल किया जा रहा है.

T20 World Cup: जानिए सुपर-12 के मैचों में पाकिस्तान के अलावा और किस-किस टीम से होगी टीम इंडिया की भिड़ंत

जम्मू-कश्मीर पहुंचे अमित शाह, महबूबा मुफ्ती बोलीं- इनके दौरे से पहले 700 नागरिकों को किया गया डिटेन



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *