महाकुंभ 2021: आनंद-आह्वान अखाड़े की निकली भव्य पेशवाई, साधु-संतों की शाही शान देख अभिभूत हुई कुंभनगरी, तस्वीरें…

Spread the love


श्री तपोनिधि आनंद और श्री पंचदशनाम आह्वान अखाड़े की पेशवाई शुक्रवार को राजसी शानोशौकत के साथ निकाली गई। हाथी, घोड़े, ऊंटों के काफिले के साथ रथों में चांदी के सिंहासन पर सवार आचार्य महामंडलेश्वर और महामंडलेश्वर का शाही अंदाज देख कुंभनगरी अभिभूत हो गई। नागाओं के हैरतअंगेज करतब और भाव-भंगिमा ने श्रद्धालुओं को रोमांचित कर दिया।

संतों की छवि इतनी भायी कि छतों और सड़कों से फूल बरसाकर उनका स्वागत किया गया। संतों ने भी श्रद्धालुओं का अभिवादन स्वीकार करते हुए आशीर्वाद दिया। देर शाम दोनों अखाड़ों की पेशवाइयां अलग-अलग रूटों से अपनी छावनियों में पहुंचीं।

एसएमजेएन कॉलेज स्थित अस्थायी छावनी से श्री तपोनिधि आनंद अखाड़े की पेशवाई सुबह 11 बजे इष्टदेव सूर्य नारायण के संरक्षण में रवाना हुई। पेशवाई में नागा साधुओं के अभेद्य सुरक्षा कवच के बीच सूर्य देव की चांदी की पालकी चल रही थी। उसके पीछे अखाड़े की धर्म ध्वजा के साथ आचार्य महामंडलेश्वर बालकानंद गिरि दस फीट ऊंचे रथ पर चांदी के सिंहासन पर विराजमान थे। उनके पीछे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि, पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी और श्रीमहंत रामरतन गिरि रथों पर सवार थे।

अगली स्लाइड देखें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *