पिथौरागढ़ में बढ़ने लगा पेयजल संकट,10 हजार की आबादी परेशान

Spread the love


सिमलगैर उर्दू मिडियम स्कूल के पास खाली बर्तनों के साथ पानी का इंतजार करते लोग।
– फोटो : PITHORAGARH

ख़बर सुनें

पिथौरागढ़। सीमांत जिले के विभिन्न हिस्सों में गर्मियों के बढ़ने के साथ ही पेयजल संकट गहराने लगा है। नगर के कई हिस्सों में पानी न आने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके बावजूद व्यवस्थाओं में सुधार के प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। लोगों ने व्यवस्थाओं में सुधार न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।
नगर में पेयजल दिक्कत के कारण 10 हजार से अधिक की आबादी को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नगर के घंटाकरण, बजेटी, बैंक रोड क्षेत्र में शनिवार को पानी नहीं आया। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लोगों का कहना है कि नलों में पानी न आने से कई काम प्रभावित हो रहे हैं। इसके बाद भी व्यवस्थाओं में सुधार के प्रयास नहीं किए जा रहे हैं।
जल संस्थान के ईई अशोक कुमार का कहना है कि आंवलाघाट पेयजल योजना से पानी कम मिला, इस कारण नगर के कई स्थानों पर पेयजल की दिक्कत रही। उनका कहना है कि पेयजल स्रोतों में इस बार पिछले वर्षों से कम पानी है।
इस कारण दिक्कत हो रही है। शीघ्र ही व्यवस्थाओं में सुधार कर लिया जाएगा। जल निगम के ईई रंजीत सिंह धर्मशक्तू का कहना है कि आंवलाघाट पेयजल योजना से लगातार पानी लिफ्ट किया जा रहा है। इससे नगर को पर्याप्त पानी मिल रहा है।
नैनीपातल और गुरना धारा बुझा रहा लोगों की प्यास
पिथौरागढ़। नगर के लोगों की लंबे समय से नैनीपातल और गुरना धारे से लोगों की प्यास बुझ रही है। जल संस्थान के टैंकर वहां से पानी भरकर जल संकट वाले स्थानों में पेयजल की आपूर्ति कराते हैं। पुलिस, आईटीबीपी, बीआरओ के टैंकर भी इन स्थानों से पानी भरकर पेयजल की आपूर्ति कराते हैं।

पिथौरागढ़। सीमांत जिले के विभिन्न हिस्सों में गर्मियों के बढ़ने के साथ ही पेयजल संकट गहराने लगा है। नगर के कई हिस्सों में पानी न आने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके बावजूद व्यवस्थाओं में सुधार के प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। लोगों ने व्यवस्थाओं में सुधार न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

नगर में पेयजल दिक्कत के कारण 10 हजार से अधिक की आबादी को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नगर के घंटाकरण, बजेटी, बैंक रोड क्षेत्र में शनिवार को पानी नहीं आया। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लोगों का कहना है कि नलों में पानी न आने से कई काम प्रभावित हो रहे हैं। इसके बाद भी व्यवस्थाओं में सुधार के प्रयास नहीं किए जा रहे हैं।

जल संस्थान के ईई अशोक कुमार का कहना है कि आंवलाघाट पेयजल योजना से पानी कम मिला, इस कारण नगर के कई स्थानों पर पेयजल की दिक्कत रही। उनका कहना है कि पेयजल स्रोतों में इस बार पिछले वर्षों से कम पानी है।

इस कारण दिक्कत हो रही है। शीघ्र ही व्यवस्थाओं में सुधार कर लिया जाएगा। जल निगम के ईई रंजीत सिंह धर्मशक्तू का कहना है कि आंवलाघाट पेयजल योजना से लगातार पानी लिफ्ट किया जा रहा है। इससे नगर को पर्याप्त पानी मिल रहा है।

नैनीपातल और गुरना धारा बुझा रहा लोगों की प्यास

पिथौरागढ़। नगर के लोगों की लंबे समय से नैनीपातल और गुरना धारे से लोगों की प्यास बुझ रही है। जल संस्थान के टैंकर वहां से पानी भरकर जल संकट वाले स्थानों में पेयजल की आपूर्ति कराते हैं। पुलिस, आईटीबीपी, बीआरओ के टैंकर भी इन स्थानों से पानी भरकर पेयजल की आपूर्ति कराते हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *